ऐ बंदे - Gurmeet Malhotra
बेटी की लिपस्टिक | Beti Ki Lipistik (Poem) - HRITHIK RAI
चाँद अब तो नजर आ - Ghanshyamdas Vaishnav Bairagi
सरकार और जनता आज भी साथ-साथ
मजदूर
जब तक प्रकृति, जीव और मनुष्य एक हैं...  मानवता मिट नहीं सकती ।
आज की नारी- Aaj ki Naari